Loxof 500 MG Tablet Use In Hindi, जानिए पूरी जानकरी हिंदी में

निमोनिया और मूत्र पथ के संक्रमण वर्तमान में एक गंभीर समस्या बन चुके है। इस समस्या के उपचार के लिए बाजार में कई दवाए उपलब्ध है। इन्ही दवाओं में Loxof 500 MG Tablet एक बेहतरीन विकल्प है।

यह टैबलेट फ्लूरोक्विनोलोन एंटीबायोटिक परिवार की सदस्य है। ऐसे में यह निमोनिया और मूत्र पथ के संक्रमण के साथ में सेल्युलिटिस, गैस्ट्रोएन्टेरिटिस, तीव्र या क्रोनिक ब्रोन्काइटिस जैसे गंभीर संक्रमण के उपचार में भी उपयोग में लायी जाती है।

जहां हम अपने पिछले आर्टिकल में आपको जानकारी दे चुके है कि Domstal 10 MG Tablet के Use क्या है। वहीं आज हम आपको अपने आर्टिकल में जानकारी देंगे कि Loxof 500 MG Tablet Use In Hindi क्या है। 

Loxof 500 MG Tablet Use In Hindi, जानिए पूरी जानकरी हिंदी में
Loxof 500 MG Tablet Use In Hindi, जानिए पूरी जानकरी हिंदी में

Loxof 500 MG Tablet क्या है 

आपको बता दे कि लोक्सोफ 500 एमजी टैबलेट रैनबैक्सी लेबोरेटरीज लिमिटेड द्वारा Manufacturer की गई है। इस टैबलेट में लिवोफ़्लॉक्सासिन केर सक्रिय तत्व मौजूद है।

यह टैबलेट फ्लूरोक्विनोलोन एंटीबायोटिक परिवार से संबंधित है। ऐसे में इस टैबलेट का उपयोग निमोनिया और मूत्र पथ के संक्रमण के उपचार में किया जाता है।

यह टैबलेट संक्रमण पैदा करने वाले जीवाणुओं को मारकर अपना कार्य करती है। लेकिन इस टैबलेट का उपयोग केवल डॉक्टर के परामर्श के बाद ही किया जाना चाहिए।

Loxof 500 MG Tablet क्या है
Loxof 500 MG Tablet क्या है 

Loxof 500 MG Tablet Use In Hindi

फ्लूरोक्विनोलोन एंटीबायोटिक परिवार की सदस्य लोक्सोफ 500 एमजी टैबलेट में लिवोफ़्लॉक्सासिन केर सक्रिय तत्व है। ऐसे में यह टैबलेट निमोनिया, ट्यूबरक्लोसिस, लिरिन्जिटिस,  गैस्ट्रोएन्टेरिटिस, सेल्युलिटिस ,तीव्र या क्रोनिक ब्रोन्काइटिस और मूत्र पथ के संक्रमण के इलाज में उपयोग में लायी जाती है।

इसके साथ ही इस टैबलेट का उपयोग टॉन्सिलिटिस, एंथ्रेक्स और प्लेग जैसी बैक्टीरिया के संक्रमण में भी किया जाता है। वहीं यह टैबलेट  पेल्विस, किडनी, प्रोस्टेट और त्वचा के संक्रमण के इलाज में भी काफी प्रभावी है।

लेकिन इसका उपयोग चिकित्सकीय परामर्श पर ही किया जाना चाहिए। बिना डॉक्टर की सलाह के यह काफी गंभीर दुष्प्रभाव उत्पन्न कर सकती है। 

लोक्सोफ 500 एमजी टैबलेट के उपयोग

Loxof 500 MG Tablet Use In HindiLoxof 500 MG Tablet Use In Hindi
निमोनिया ट्यूबरक्लोसिस
लिरिन्जिटिसगैस्ट्रोएन्टेरिटिस
सेल्युलिटिसतीव्र या क्रोनिक ब्रोन्काइटिस
मूत्र पथ के संक्रमण टॉन्सिलिटिस     
एंथ्रेक्स प्लेग
पेल्विस किडनी
प्रोस्टेटत्वचा के संक्रमण
Loxof 500 MG Tablet Use In Hindi
Loxof 500 MG Tablet Use In Hindi

Loxof 500 MG Tablet किस तरह काम करती है 

जैसा कि हमने आपको जानकारी दी है कि लोक्सोफ 500 एमजी टैबलेट में लिवोफ़्लॉक्सासिन केर सक्रिय तत्व उपस्थित है। 

ऐसे में यह जीवाणु के DNA से एंजाइम को अवरुद्ध करके जीवाणुनाशक की भांति कार्य करती है। यह कार्य DNA प्रतिलेखनम रिपेयर और पुनर्मूल्यांकन के लिए बेहद जरूरी है।

यह टैबलेट जीवाणु सेल की दीवारों को भी बन्ने से रोकती है। अपने इसी गुणों के चलते यह तै टैबलेट स्ट्रोएन्टेरिटिस, सेल्युलिटिस ,तीव्र या क्रोनिक ब्रोन्काइटिस और निमोनिया के उपचार में उपयोग में लायी जाती है। 

Loxof 500 MG Tablet किस तरह काम करती है
Loxof 500 MG Tablet किस तरह काम करती है 

Loxof 500 MG Tablet के साइड इफेक्ट 

हर दवा की तरह लोक्सोफ 500 एमजी टैबलेट के भी कुछ साइड इफेक्ट है जैसे, सिरदर्द, मत्तली, उल्टी, चक्कर आना, दस्त, अनिद्रा, कब्ज़, अर्थ्राल्जिया, हाइपरटेंशन, ब्रैडकार्डीआ, टेककार्डिया, दौरे, थ्रोम्बोसाइटोपेनिया, पीलिया, तीव्र किडनी फेलियर, एरिथमिया आदि।

बताए गए साइड इफेक्ट इस टैबलेट के कुछ सामान्य साइड इफेक्ट है, जो कुछ समय के बाद अपने आप ठीक हो जाते है। लेकिन अगर ये साइड इफेक्ट कुछ समय बाद भी ठीक ना हो तो आपको अपने डॉक्टर से परामर्श लेने की आवश्यकता है।

साथ ही बच्चो, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इस टैबलेट के सेवन से बचना चाहिए।

लोक्सोफ 500 एमजी टैबलेट के साइड इफेक्ट 

Loxof 500 MG Tablet के साइड इफेक्ट Loxof 500 MG Tablet के साइड इफेक्ट 
सिरदर्द  मत्तली  
चक्कर आनादस्त
अनिद्राकब्ज़
अर्थ्राल्जियादौरे
हाइपरटेंशनब्रैडकार्डीआ
टेककार्डिया दौरेथ्रोम्बोसाइटोपेनिया
पीलियातीव्र किडनी फेलियर
एरिथमियाउल्टी
Loxof 500 MG Tablet के साइड इफेक्ट
Loxof 500 MG Tablet के साइड इफेक्ट 

Loxof 500 MG Tablet का अन्य दवा और पदार्थो के साथ में इंटरैक्शन 

हर दवा का किसी अन्य पदार्थों या दवाओं के साथ में कुछ नकारात्मक इंटरैक्शन होते है।

जब कभी हम किसी एक दवा के साथ में कई अन्य दवाओं का उपयोग करते है या फिर किसी खाद्य या पेय पदार्थों के साथ में किस अन्य दवा को उपयोग में लाते है, तो हमें कभी कभी इसके गंभीर परिणामों का सामना करना पड़ सकता है।

आइये जानते है Loxof 500 MG Tablet का अन्य दवा और पदार्थों के साथ इंटरैक्शन-

Loxof 500 MG Tablet का अन्य दवा और पदार्थो के साथ में इंटरैक्शन
Loxof 500 MG Tablet का अन्य दवा और पदार्थो के साथ में इंटरैक्शन 

शराब के साथ 

वर्तमान में लोक्सोफ 500 एमजी टैबलेट का शराब के साथ इंटरेक्शन अज्ञात है। लेकिन इस टैबलेट के सेवन से पहले आप अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य करें।

लैब टेस्ट के साथ 

अंग प्रणाली के कार्यों जैसे किडनी, लिवर, नेत्ररोग, और हेमटोपोइएटिक के मूल्यांकन के साथ मे यह टैबलेट प्रतिक्रिया कर सकती है। ऐसे में आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

दवाओं के साथ

लोक्सोफ 500 एमजी टैबलेट एंटीनोप्लास्टिक, फोसकारनेट , सिमेटिडाइन,  प्रोबेनेसिड, वार्फरिन, के साथ में इंटरैक्शन करती है। अगर आप बताई गई टैबलेट का सेवन करते है तो आप लोक्सोफ 500 एमजी टैबलेट के उपयोग से बचें। 

भोजन के साथ  

लोक्सोफ़ 500 एमजी टैबलेट किसी भी खाद्य पदार्थ के साथ में कोई इंटरैक्शन नहीं करती है। लेकिन फिर भी आपको एक बार अपने चिकित्सक से परामर्श कर लेना चाहिए। 

रोग के साथ 

सेंट्रल नर्वस सिस्टम डिप्रेशन, कोलाइटिस, क्युटी प्रोलोंगेशन, किडनी रोग, आदि से पीड़ित रोगियों को लोक्सोफ़ 500 एमजी टैबलेट के सेवन से बचना चाहिए। 

उम्मीद है आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया होगा तथा आप जान गए होंगे कि Loxof 500 MG Tablet Use In Hindi क्या है। 


ये भी पढ़िए

  1. Ambrodil Plus Syrup Use In Hindi, जानिए पूरी जानकारी हिंदी में
  2. Colospa X Tablet Use In Hindi, जानिए पूरी जानकारी हिंदी में
  3. Clinsol Gel Use In Hindi, जानिए पूरी जानकारी हिंदी में
  4. Etoshine 90 MG Tablet Use In Hindi, जानिए पूरी जानकारी हिंदी में

FAQ

Loxof 500 MG Tablet के Manufacturer कौन है?

Loxof 500 MG Tablet के Manufacturer  रैनबैक्सी लेबोरेटरीज लिमिटेड है।

Loxof 500 MG Tablet का Medicine composition क्या है?

लोक्सोफ 500 एमजी टैबलेट में लिवोफ़्लॉक्सासिन के सक्रिय तत्व मौजूद है। 

Loxof 500 MG Tablet Use In Hindi क्या है?

लोक्सोफ 500 एमजी टैबलेट में लिवोफ़्लॉक्सासिन केर सक्रिय तत्व है। ऐसे में यह टैबलेट निमोनिया, ट्यूबरक्लोसिस, लिरिन्जिटिस,  गैस्ट्रोएन्टेरिटिस, सेल्युलिटिस ,तीव्र या क्रोनिक ब्रोन्काइटिस और मूत्र पथ के संक्रमण के इलाज में उपयोग में लायी जाती है।


Spread the love

Leave a Comment