ATM Ka Full Form क्या है और इसका फुल फॉर्म क्या होता है, जानिए पूरी जानकारी

वर्तमान में हर बैंक खाताधारक ATM का उपयोग जरूर करता होगा। किसी से लेनदेन करना हो या फिर पैसों का ट्रांसफर करना होगा तो एटीएम का इस्तेमाल जरूर किया जाता है।

आपने भी एटीएम का उपयोग जरूर ही किया होगा, लेकिन क्या आपको इसके बारे में पूरी जानकारी ये। आखिर एटीएम क्या होता था तथा इसका फुल फॉर्म क्या है, क्या आप जानते है।

हम अपने पिछले आर्टिकल में आपको जानकारी दे चुके है कि DNA Ka Full Form क्या होता है। वहीं आज हम आपको जानकारी देंगे कि आखिर ATM Ka Full Form क्या होता है। 

ATM क्या है और इसका फुल फॉर्म क्या होता है, जानिए पूरी जानकारी
ATM क्या है और इसका फुल फॉर्म क्या होता है, जानिए पूरी जानकारी

ATM Ka Full Form क्या है

अगर बात करें एटीएम के फुल फॉर्म की तो यह होता है Automated Teller Machine। हालांकि यह फुल फॉर्म केवल बैंकिंग सेक्टर के लिए है।

आपको बता दे कि इसके अतिरिक्त भी एटीएम के कई फूल फॉर्म होते है जैसे Aviation terminologies में Air traffic Management, I।T। Sector में Asynchronous Transfer Mode आदि।

इसके अतिरिक्त मलेशियन आर्म फोर्सेज को भी शॉर्ट फॉर्म में ATM ही कहा जाता है, जिसका अर्थ होता है  Angkatan Tentera Malaysia। ऐसे में एटीएम के कई फुल फॉर्म होते है। लेकिन हम अपने आर्टिकल में आपको बैंकिंग सेक्टर से जुड़े ATM के बारे में जानकारी दे रहे है। 

ATM Ka Full Form क्या है
ATM Ka Full Form क्या है

ये भी पढ़िए

Aadhaar Card से पैसे कैसे निकाले, जानिए AEPS की पूरी जानकारी

Top 5 Best Blender of India in 2021, जानिए हिंदी में


ATM क्या है?

आप हमारे आर्टिकल के माध्यम से एटीएम के फुल फॉर्म के बारे में तो जान गए होंगे अब आपको बताते है कि आखिर एटीएम क्या होता है। तो आपको बता दे कि ATM एक electronic telecommunications device है।

एटीएम का उपयोग वित्तीय लेनदेन जैसे कि जमा, नकद निकासी, फंड ट्रांसफर और अन्य बैंक से संबंधित लेनदेन के लिए होता है।

चुकी एटीएम एक Automatic मशीन है, ऐसे में आपको बैंक कर्मचारियों से सीधी बात की कोई जरूरत नहीं होती। इसी कारण इसके चलते बैंकिंग प्रक्रिया बहुत सरल और आसान होती है।

ATM क्या है?
ATM क्या है?

ये भी पढ़िए

Top 5 Best Vacuum Cleaner of India in year 2021, जानिए हिंदी में

Top 5 Best Coffee Makers of India in 2021, जानिए हिंदी में


ATM के Parts क्या हैं?

एटीएम में यूजर को आसानी से इसका उपयोग करने में मदद करने के लिए दो तरह के डिवाइस होते है, इनपुट डिवाइस और आउटपुट डिवाइस।

जहां इनपुट डिवाइस में कार्ड रीडर और कीपैड आते है। वहीं आउटपुट डिवाइस में स्क्रीन, स्पीकर, कैश डिस्पेंसर और रिसीप्ट प्रिंटर आते है। आइये जानते है इनपुट डिवाइस और आउटपुट डिवाइस के बारे में। 

ATM के Parts क्या हैं?
ATM के Parts क्या हैं?

इनपुट डिवाइस 

इनमें कार्ड रीडर और कीपैड शामिल है। जहां कार्ड रीडर एटीएम कार्ड के खाते की जानकारी को रीड करता है। यह डाटा एटीएम कार्ड के पीछे की तरफ राखी मैग्नेटिक स्ट्रिप पर संग्रहित रहता है।

जिसे वेरिफिकेशन के लिए सर्वर पर भेजा जाता है। खाते की जानकारी तथा यूजर सर्विस से प्राप्त आदेशों के आधार पर ही नकद निकालने की अनुमति दी जाती है।

वहीं कीपैड आपको पिन डालने, पैसे निकालने से जुड़े, और अन्य सुविधाओं जैसे क्लियर, कैंसिल, इंटर आदि इनपुट करने की अनुमति देता है। 

आउटपुट डिवाइस 

इन डिवाइसों में स्क्रीन, स्पीकर, केस डिस्पेंसर और रिसीप्ट प्रिंटर आदि आते है। जहां स्क्रीन का उपयोग खाते से जुड़ी जानकारी जैसे खाता धारक का नाम, उपब्ध राशि आदि को प्रदर्शित करने के लिए किया जाता है।

वहीं स्पीकर आपको लेन देन के विषय में ऑडियो फीडबैक प्रदान करता है। केस डिस्पेंसर एक महत्वपूर्ण आउटपुट डिवाइस है, जो नकदी निकालने की लिए उपयोग में लाया जाता है।

इसके अलावा रिसीप्ट प्रिंटर आपके लेने देन से जुड़ी रसीद आपको प्रदान करता है, इसमें निकाली गई राशि, शेष बची राशि, समय, दिनांक और स्थान आदि शामिल रहते है। 


ये भी पढ़िए

Top 5 Best Air Purifier of India in year 2021, जानिए हिंदी में

Top 5 Best Tablet of India in 2021, जानिए हिंदी में


 ATM की कार्य विधि

एटीएम से नकदी निकालने के लिए आपको सबसे पहले मशीन के अन्दर प्लास्टिक का एटीएम कार्ड डालना होता है। जहां कुछ मशीन में आपको अपना कार्ड ड्राप करना होता है, तो कुछ में आपको कार्ड स्वैप करना होता है।

अब मैग्नेटिक पट्टी के रूप में आपके अकाउंट की डिटेल और अन्य जानकारी मशीन में जाती है। अब आपसे आपका पिन नंबर मांगा जाता है। जहां सफल ऑथेंटिकेशन के बाद में एटीएम मशीन ट्रांजेक्शन की अनुमति देती है। 

ATM की कार्य विधि
ATM की कार्य विधि

ये भी पढ़िए

Top 5 Best Suitcase of India in year 2021, जानिए हिंदी में

Khasra कैसे निकाले, जानिए जमीन का खसरा निकालने की पूरी जानकारी


ATM के प्रकार 

अब तक आपने एटीएम क्या है, उसका फुल फॉर्म और उसकी कार्यविधि के बारे में जान लिया। अब आपको बताते है कि एटीएम कितने प्रकार के होते है।

तो आपको बता दे कि एटीएम निम्न प्रकार के होते है, जैसे Online ATM, Offline ATM, On Site ATM, Off Site ATM, White Label ATM, Yellow Label ATM,  Brown Label ATM, Orange Label ATM, Pink Label ATM, और Green Label ATM। 

ATM के प्रकार
ATM के प्रकार 

ये भी पढ़िए

Top 5 Best Gym Bags of India in year 2021, जानिए हिंदी में

Top 5 Best Keyboards of India in 2021, जानिए हिंदी में


ATM के बारे में कुछ अन्य जानकारियां

आपको बता दे कि एटीएम का आविष्कार जॉन शेफर्ड बैरोन ने किया था।   27 जून 1967 को  दुनिया का पहला एटीएम लंदन के Barclays Bank में स्थापित किया गया था।

वहीं भारत में पहला एटीएम 1987 में HSBC द्वारा स्थापित किया गया था। वहीं प्रसिद्ध कॉमेडी अभिनेता रेग वर्नी ATM का उपयोग करने वाले पहले व्यक्ति थे। 

ATM के बारे में कुछ अन्य जानकारियां
ATM के बारे में कुछ अन्य जानकारियां

उम्मीद है आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया होगा तथा आप जान गए होंगे कि ATM Ka Full Form क्या है।


ये भी पढ़िए

  1. Top 5 Best Memory Cards of India in year 2021, जानिए हिंदी में
  2. CPU का फुल फॉर्म क्या है, जानिए पूरी जानकारी
  3. Top 5 Best Juicer of India in year 2021, जानिए हिंदी में
  4. Top 5 Best Floor Cleaners Mops of India in year 2021, जानिए हिंदी में
  5. Weather Forecast क्या है, जानिए मौसम के पूर्वानुमान के विषय में पूरी जानकारी

FAQ

ATM किस तरह का डिवाइस है?

ATM एक electronic telecommunications device है। एटीएम का उपयोग वित्तीय लेनदेन जैसे कि जमा, नकद निकासी, फंड ट्रांसफर और अन्य बैंक से संबंधित लेनदेन के लिए होता है।

ATM Ka Full Form क्या है?

ATM का फुल फॉर्म Automated Teller Machine होता है।

Spread the love

Leave a Comment